FRUIT BENEFITS

केला खाने के हैं 35 के फायदे, kele khaane ke faiyede

kela khane ke 115 faiyede

केला खाने के हैं 35 के फायदे , 35 awesome benefits of eating banana 

 

केला बारह महीने बाजार में उपलब्ध रहता है। यह बरसात के सीजन में ये शरीर के लिए विशेष लाभदायक होता है। कच्चा केला मीठा, ठण्डी तासीर का, भारी, स्निग्ध, कफकारक, पित्त, रक्त विकार, जलन, घाव व वायु को नष्ट करता है। पका हुआ केला स्वादिष्ट, शीतल, मधुर, वीर्यवर्ध्दक, पौष्टिक, मांस की वृध्दि करने वाला, रुचिकारक तथा भूख, प्यास, नेत्ररोग और प्रमेह का नाश करने वाला होता है।

आइये जानिये केले खाने के ग़ज़ब के फायदे

 

1) यदि महिलाओं को रक्त प्रवाह अधिक होता है तो पके केले को दूध में मसल कर कुछ दिनों तक खाने से लाभ होता है।

2) बार-बार पेशाब आने की समस्या हो तो चार तोला केले के रस में दो तोला घी मिलाकर पीने से फायदा होता है।

3) यदि शरीर का कोई हिस्सा जल जाए तो केले के गूदे को मसल कर जले हुए स्थान पर बांधे। इससे जलन दूर होकर आराम पहुंचता है।

4) पेचिश रोग में थोड़े से दही में केला मिलाकर सेवन करने से फायदा होता है।

5) संग्रहणी रोग होने पर पके केले के साथ इमली तथा नमक मिलाकर सेवन करें।

6) दाद होने पर केले के गूदे को नींबू के रस में पीसकर पेस्ट बनाकर लगाएं।

7) पेट में जलन होने पर दही में चीनी और पका केला मिलाकर खाएं। इससे पेट संबंधी अन्य रोग भी दूर होते हैं।

8) अल्सर के रोगियों के लिये कच्चे केले का सेवन रामबाण औषधि है।

9) केला खून में वृध्दि करके शरीर की ताकत को बढ़ाने में सहायक है। यदि प्रतिदिन केला खाकर दूध पिया जाए तो कुछ ही दिनों में व्यक्ति तंदुरुस्त हो जाता है।

10) यदि चोट लग जाने पर खून का बहना न रुके तो उस जगह पर केले के डंठल का रस लगाने से लाभ होता है।

11) केला छोटे बच्चों के लिये उत्तम व पौष्टिक आहार है। इसे मसल कर या दूध में फेंटकर खिलाने से लाभ मिलता है।

12) केले और दूध की खीर खाने या प्रातः सायं दो केले घी के साथ खाने या दो केले भोजन के साथ घंटे बाद खाकर ऊपर से एक कप दूध में दो चम्मच शहद धोलकर लगातार कुछ दिन पीने से प्रदर रोग ठीक हो जाता है।

13) केले का शर्बत बनाकर पीने से सूखी खांसी, पुरानी खांसी और दमे के कारण चलने वाली खांसी में 2-2 चम्मच सुबह-शाम सेवन करने से लाभ होता है।

14) एक पका केला एक चम्मच घी के साथ 4-5 बूंद शहद मिलाकर सुबह-शाम आठ दिन तक रोजाना खाने से प्रदर और धातु रोग में लाभ होता है।

15) पके केले को घी के साथ खाने से पित्त रोग शीघ्र शान्त होता है।

16) मुंह में छाले हो जाने पर गाय के दूध के दही के साथ केला खाने से लाभ होता है।

17) एक पका केला मीठे दूध के साथ आठ दिन तक तक लगातार खाने से नकसीर में लाभ होता है।

18) दो केले एक तोला शहद में मिलाकर खाने से सीने के दर्द में लाभ होता है।

19) दो पके केले खाकर, एक पाव गर्म दूध एक माह तक सेवन करने से दुबलापन दूर होकर शरीर स्वस्थ बनता है।

20) प्रतिदिन भोजन के बाद एक केला खाने से मांसपेशियां मजबूत बनती है व ताकत देता है।

21) प्रातः तीन केले खाकर, दूध में शक्कर व इलायची मिलाकर नित्य पीते रहने से रक्त की कमी दूर होती है।

22) यदि बाल गिरते हों तो केले के गूदे में नींबू का रस मिलाकर सिर में लगाने से बाल झड़ना रूक जाता है।

23) जलने या चोट लगने पर केले का छिलका लगाने से लाभ होता है।

24) पके हुए केले को आंवले रस तथा शक्कर मिलाकर खाने बार-बार पेशाब आने की शिकायत होती है।

25) बच्चे को दस्त लग जाने पर पके केले को कटोरी में रख कर चम्मच से घोट कर मक्खन जैसा बना लें और जरा सी मिश्री पीस कर मिला कर बच्चे को दिन में दो तीन बार खिलाएं। लाभ होगा, कमजोरी नहीं आएगी और बच्चे के शरीर में पानी की कमी नहीं हो पाएगी। ध्यान रहे कि केला जितनी बार खिलाना हो, उसे उसी समय बनाएं। ढक कर रखा गया या काट कर रखा केला न खिलाएं। वह हानिकारक हो सकता है। मिट्टी खाने के आदी बच्चों को इसका गूदा खूब फेंट कर जरा सा शहद मिला कर आधा आधा चम्मच खिलाना उपयोगी है। पर ध्यान रहे की शाम के बाद केला ना दे ।

26) कोई भी चीज मात्रा से अधिक खाना पीना हानिकारक है। इसी तरह केला भी ज्यादा खाने से पेट पर भारी पड़ेगा, शरीर शिथिल होगा, आलस्य आएगा। कभी ज्यादा खा लिया जाए तो एक छोटी इलायची चबाना लाभकारी है।

27) कफ प्रकृति वालों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। हमेशा पका केला ही खाएं।

28) केले में मैग्नीशियम की काफी मात्रा होती है जिससे शरीर की धमनियों में खून पतला रहने के कारण खून का बहाव सही रहता है। इसके अलावा पूर्ण मात्रा में मैग्नीशियम लेने से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है।

29) कच्चे केले को दूध में मिलाकर लगाने से त्वचा निखर जाती है और चेहरे पर भी चमक आ जाती है।

30) रोज सुबह एक केला और एक गिलास दूध पीने से वजन कंट्रोल में रहता है और बार- बार भूख भी नहीं लगती।

31) गर्भावस्था में महिलाओं के लिए केला बहुत अच्छा होता है क्योंकि यह विटामिन से भरपूर होता है।

32) गले की सुजन में लाभकारी है।

33) जी-मिचलाने पर तो पका केला कटोरी में फेंट कर एक चम्मच मिश्री या चीनी और एक छोटी इलायची पीस कर मिला कर खाने से राहत मिलेगी।

34) केले के तने के सफेद भाग के रस का नियमित सेवन डायबिटीज की बीमारी को धीरे-धीरे खत्म कर देता है।

35) खाना खाने के बाद केला खाने से भोजन आसानी से पच जाता है।

 

kela baarah maheene baajaar mein upalabdh rahata hai. yah barasaat ke seejan mein ye shareer ke lie vishesh laabhadaayak hota hai. kachcha kela meetha, thandee taaseer ka, bhaaree, snigdh, kaphakaarak, pitt, rakt vikaar, jalan, ghaav va vaayu ko nasht karata hai. paka hua kela svaadisht, sheetal, madhur, veeryavardhdak, paushtik, maans kee vrdhdi karane vaala, ruchikaarak tatha bhookh, pyaas, netrarog aur prameh ka naash karane vaala hota hai.

aaiye jaaniye kele khaane ke gazab ke phaayade

 

1) yadi mahilaon ko rakt pravaah adhik hota hai to pake kele ko doodh mein masal kar kuchh dinon tak khaane se laabh hota hai.

2) baar-baar peshaab aane kee samasya ho to chaar tola kele ke ras mein do tola ghee milaakar peene se phaayada hota hai.

3) yadi shareer ka koee hissa jal jae to kele ke goode ko masal kar jale hue sthaan par baandhe. isase jalan door hokar aaraam pahunchata hai.

4) pechish rog mein thode se dahee mein kela milaakar sevan karane se phaayada hota hai.

5) sangrahanee rog hone par pake kele ke saath imalee tatha namak milaakar sevan karen.

6) daad hone par kele ke goode ko neemboo ke ras mein peesakar pest banaakar lagaen.

7) pet mein jalan hone par dahee mein cheenee aur paka kela milaakar khaen. isase pet sambandhee any rog bhee door hote hain.

8) alsar ke rogiyon ke liye kachche kele ka sevan raamabaan aushadhi hai.

9) kela khoon mein vrdhdi karake shareer kee taakat ko badhaane mein sahaayak hai. yadi pratidin kela khaakar doodh piya jae to kuchh hee dinon mein vyakti tandurust ho jaata hai.

10) yadi chot lag jaane par khoon ka bahana na ruke to us jagah par kele ke danthal ka ras lagaane se laabh hota hai.

11) kela chhote bachchon ke liye uttam va paushtik aahaar hai. ise masal kar ya doodh mein phentakar khilaane se laabh milata hai.

12) kele aur doodh kee kheer khaane ya praatah saayan do kele ghee ke saath khaane ya do kele bhojan ke saath ghante baad khaakar oopar se ek kap doodh mein do chammach shahad dholakar lagaataar kuchh din peene se pradar rog theek ho jaata hai.

13) kele ka sharbat banaakar peene se sookhee khaansee, puraanee khaansee aur dame ke kaaran chalane vaalee khaansee mein 2-2 chammach subah-shaam sevan karane se laabh hota hai.

14) ek paka kela ek chammach ghee ke saath 4-5 boond shahad milaakar subah-shaam aath din tak rojaana khaane se pradar aur dhaatu rog mein laabh hota hai.

15) pake kele ko ghee ke saath khaane se pitt rog sheeghr shaant hota hai.

16) munh mein chhaale ho jaane par gaay ke doodh ke dahee ke saath kela khaane se laabh hota hai.

17) ek paka kela meethe doodh ke saath aath din tak tak lagaataar khaane se nakaseer mein laabh hota hai.

18) do kele ek tola shahad mein milaakar khaane se seene ke dard mein laabh hota hai.

19) do pake kele khaakar, ek paav garm doodh ek maah tak sevan karane se dubalaapan door hokar shareer svasth banata hai.

20) pratidin bhojan ke baad ek kela khaane se maansapeshiyaan majaboot banatee hai va taakat deta hai.

21) praatah teen kele khaakar, doodh mein shakkar va ilaayachee milaakar nity peete rahane se rakt kee kamee door hotee hai.

22) yadi baal girate hon to kele ke goode mein neemboo ka ras milaakar sir mein lagaane se baal jhadana rook jaata hai.

23) jalane ya chot lagane par kele ka chhilaka lagaane se laabh hota hai.

24) pake hue kele ko aanvale ras tatha shakkar milaakar khaane baar-baar peshaab aane kee shikaayat hotee hai.

25) bachche ko dast lag jaane par pake kele ko katoree mein rakh kar chammach se ghot kar makkhan jaisa bana len aur jara see mishree pees kar mila kar bachche ko din mein do teen baar khilaen. laabh hoga, kamajoree nahin aaegee aur bachche ke shareer mein paanee kee kamee nahin ho paegee. dhyaan rahe ki kela jitanee baar khilaana ho, use usee samay banaen. dhak kar rakha gaya ya kaat kar rakha kela na khilaen. vah haanikaarak ho sakata hai. mittee khaane ke aadee bachchon ko isaka gooda khoob phent kar jara sa shahad mila kar aadha aadha chammach khilaana upayogee hai. par dhyaan rahe kee shaam ke baad kela na de .

26) koee bhee cheej maatra se adhik khaana peena haanikaarak hai. isee tarah kela bhee jyaada khaane se pet par bhaaree padega, shareer shithil hoga, aalasy aaega. kabhee jyaada kha liya jae to ek chhotee ilaayachee chabaana laabhakaaree hai.

27) kaph prakrti vaalon ko isaka sevan nahin karana chaahie. hamesha paka kela hee khaen.

28) kele mein maigneeshiyam kee kaaphee maatra hotee hai jisase shareer kee dhamaniyon mein khoon patala rahane ke kaaran khoon ka bahaav sahee rahata hai. isake alaava poorn maatra mein maigneeshiyam lene se kolestrol kee maatra kam hotee hai.

29) kachche kele ko doodh mein milaakar lagaane se tvacha nikhar jaatee hai aur chehare par bhee chamak aa jaatee hai.

30) roj subah ek kela aur ek gilaas doodh peene se vajan kantrol mein rahata hai aur baar- baar bhookh bhee nahin lagatee.

31) garbhaavastha mein mahilaon ke lie kela bahut achchha hota hai kyonki yah vitaamin se bharapoor hota hai.

32) gale kee sujan mein laabhakaaree hai.

33) jee-michalaane par to paka kela katoree mein phent kar ek chammach mishree ya cheenee aur ek chhotee ilaayachee pees kar mila kar khaane se raahat milegee.

34) kele ke tane ke saphed bhaag ke ras ka niyamit sevan daayabiteej kee beemaaree ko dheere-dheere khatm kar deta hai.

35) khaana khaane ke baad kela khaane se bhojan aasaanee se pach jaata hai.

Related posts

केले के छिलके के हैरान कर देने वाले फायदे

admin

Anaar ke Fayde / Benefits Of Pomegranate / अनार के फ़ायदे

admin

Leave a Comment

ilm-e-tib - health is wealth
In this New Portal you will get a basic knowledge about medical nutrition, fruits, vegetables, spices, natural remedies and nutrients, its advantages and disadvantages, and treatment in English, Hindi. Such as Benefits and treatment of household prescription, Knowledge and treatment of the Ayurveda, method of treatment therapy, Grandmother's Nuskha, Natural Remedies & medical news.